1.30 लाख रुपए रिश्वत लेते हुए समाहरणालय स्थित कार्यालय वेश्म में  निगरानी के शिकंजे में आए जिला भूअर्जन पदाधिकारी अरविंद कुमार भारती ।


 

रिपोर्ट -  पारस सोना 

पूर्णिया / महज 15 दिनों के बाद पूर्णिया में निगरानी विभाग की दूसरी सफल कार्रवाई पूरी हुई और समाहरणालय परिसर स्थित कार्यालय में शुक्रवार की दोपहर जिला भूअर्जन पदाधिकारी अरविंद कुमार भारती 01 लाख 30 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए निगरानी विभाग के हाथों गिरफ्तार हुए। निगरानी धावा दल का नेतृत्व डीएसपी सुरेंद्र कुमार मौवार कर रहे थे।निगरानी की इस कार्रवाई के बाद कई घण्टे तक समाहरणालय परिसर में खलबली मची रही,हालांकि कोई कुछ बोलने को तैयार नही था । श्री भारती को गिरफ्तार कर निगरानी टीम अपने साथ निगरानी थाना,पटना ले गई है जहां से शनिवार को श्री भारती को निगरानी कोर्ट,भागलपुर में पेश किया जाएगा।
         मिली जानकारी अनुसार, जिला मुख्यालय के वार्ड नंबर 08 ,मरंगा ओली टोला निवासी नितेश कुमार राज ने 28 जून को निगरानी में शिकायत दर्ज कराया था कि नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा उनकी माँ बिंदु देवी के नाम की एक कठठा जमीन को अधिग्रहित किया गया था।इस अधिग्रहित भूमि के एवज में एनएचआई को बिंदु देवी को 31 लाख 59 लाख रुपये सरकारी मुआबजा के तौर पर भुगतान करना था।लेकिन,इस भुगतान के एवज में श्री भारती और कार्यालय के प्रधान लिपिक माधव प्रसाद साह द्वारा 01.30 लाख रुपये रिश्वत की मांग की जा रही थी ।श्री राज , जो पूर्णिया कोषागार में लिपिक हैं , की शिकायत पर जब जांच की गई तो मामला सही पाया गया।जिसके बाद यह कार्रवाई हुई और जिला भूअर्जन पदाधिकारी गिरफ्तार हुए। मामले में निगरानी कांड संख्या 29/21 दर्ज किया गया है।





Related Post