अल्फा न्यूरो हॉस्पिटल में डिलीवरी पेशेंट की मौत होने के बाद परिजन ने किया जमकर बवाल


ब्यूरो रिपोट

 

पूर्णिया के लाइन बाजार कुंडी पुल के समीप अल्फा न्यूरो अस्पताल में महिला मरीज की मौत के बाद परिजनों ने जमकर बवाल काटा । घटना के संदर्भ में बताया जाता है कि मोहनपुर ओपी के रहने वाली रीना देवी उम्र 22 वर्ष डिलीवरी के  परिजनों ने रात के 2 बजे लाइन बाजार कुंडली पुल के समीप स्थित अल्फा न्यूरो हॉस्पिटल में भर्ती करवाया था । अस्पताल प्रबंधन ने कहा था कि इनका ऑपरेशन करना होगा और डॉक्टर दूसरी जगह गए हुए हैं । शाम को ऑपरेशन कर दिया जाएगा । मरीज के परिजनों का कहना है कि डॉ ने दस हजार रुपया  जमा भी करवा लिया  और देर शाम तक डॉक्टर के नहीं आने के बाद उनके मरीज की मौत हो गई । घटना की सूचना मिलते ही परिजन पहुंचकर अस्पताल में तोड़फोड़ किया है ,मरीज की मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन के सभी लोग अस्पताल छोड़कर फरार हो गए हैं। वहीं घटना की सूचना सहायक खजांची थाना की पुलिस और  के हाट थाना की पुलिस पहुंच कर मामले को शांत कराया जा रहा है बताया जाता है कि आए दिन इस अस्पताल में मरीज की मौत के बाद हंगामा होना कोई नई बात नहीं है।  1 सप्ताह पहले भी एक मरीज की मौत के बाद जमकर परिजनों ने बवाल काटा था । लगातार मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन पर भी सवाल खड़ा होना शुरू हो गया है।  मृतक महिला की चाची सरिता देवी  ने बताया कि डॉक्टर के द्वारा यदि सही तरीके से इलाज किया जाता तो उनकी भतीजी  की मौत नहीं होती , और डॉक्टर के बिना ही अस्पताल का संचालन किया जाता है । उनके यहां एक भी सर्जन डॉक्टर नहीं है।  यही वजह है कि उनकी भतीजी का समय पर ऑपरेशन नहीं किया जा सका । उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि डॉक्टर के यहां कई तरह के दलाल मौजूद हैं,  और जब वह अपनी भतीजी को किसी अन्य डॉक्टर के यहां ले जाने का प्रयास भी किया जाने लगा तो कई लोगों ने उन्हें रोक कर रखा था।   अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले में पल्ला झाड़ लिया है और उनका कहना है कि मरीज कि सही टाइम पर डिलीवरी हो जाती तो आज उसकी मौत नहीं होती





Related Post