पूर्णिया साइकिलिंग की टीम भारत नेपाल मैत्री सम्बन्ध निभाकर अपने वतन लौटी


रिपोर्ट-पारस सोना

 पूर्णिया
 पूर्णिया साइकिलिंग की टीम 28 मार्च को सुबह 7:00 बजे वापस पूर्णिया पहुंची। पूर्णिया साइकलिंग एसोसिएशन के लोगों ने तथा स्थानीय लोगों ने मिलकर उनका स्वागत किया। सुबह 7:00 बजे पूर्णिया के होटल हाईवे किंग पर उनका वेलकम किया गया ।इस मौके पर पुलिस प्रशासन भी मौजूद थी ।पूर्णिया होटल हाईवे किंग से जीरो माइल होते हुए खुस्कीबाग, लाइन बाजार होते हुए जिला स्कूल के प्रांगण में पहुंची जहां उनका भव्य स्वागत हुआ  इस मौके पर पूर्णिया जिला स्कूल के प्रिंसिपल दिवा कांत झा ,समाजसेवी मैडम मीणा सहित साइकलिंग एसोसिएशन के कई डॉक्टर स्पोर्ट्समैन व श्री राम सेवा संघ के युवा मौजूद थे। सभी साइकिलिस्टों को माला पहनाकर सम्मानित किया गया। बताते चलें कि पूर्णिया साइकिलिंग की टीम दिनांक 24 मार्च की रात्रि 9:30 बजे नेपाल के यात्रा पर निकली थी ।पूर्णिया डीएम राहुल कुमार तथा एसपी दयाशंकर ने ऊर्जा बढ़ाते हुए हरी झंडी दिखाकर जोशो खरोश से विदा किया था ।यह साइकलिंग टीम 25 तारीख कि सुबह विराटनगर बॉर्डर पर पहुंची। फिर वहां से नेपाल पर्यटन बोर्ड एवं टूर टूरिज्म के अधिकारियों ने मिलकर नेपाल बॉर्डर के अंदर लिया और वहां पर जोरदार स्वागत किया। पुनः वहां से इस टीम को विराट नगर के एक होटल ईस्टर्न स्टार में ले जाया गया तथा वहां फ्रेश और जलपान करवाने के बाद धरान के लिए टीम को विदा किया गया। इस दौरान पूर्णिया से ही नेपाल पर्यटन बोर्ड तथा टूर एवं टूरिज्म के अधिकारी साथ थे। अधिकारियों में सुमन धिमरे तथा सूरज जी लगातार धरान तक साथ रहे। दोपहर के 11:30 बजे यह साइकिल की टीम धरान पहुंची जहां गजूर होटल में सभी का अंग वस्त्र तथा रुद्राक्ष की माला पहनाकर स्वागत किया गया ।इस दौरान वहां के स्थानीय लोग एवं होटल के अधिकारी तथा पर्यटन बोर्ड के लोग मौजूद थे 25 तारीख को वहां लगने वाले पर्यटन बोर्ड तथा टूर एवं टूरिज्म के मेले में साइकिलिंग की पूरी टीम को नेपाल के प्रोविंस नम्बर -1 के सीएम राजेंद्र राय ने मोमेंटो तथा स्थानीय शील्ड देकर सम्मानित किया । इस दौरान नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, इंडिया के विभिन्न क्षेत्रों जैसे सिक्किम,सुलीगुड़ी,पटना इत्यादि के लोग मौजूद थे ।बताते चलें कि इस टूरिज्म मार्ट में  बांग्लादेश, भूटान ,सिक्किम सहित इंडिया के पत्रकारों के अलावे प्रेस क्लब पूर्णिया की टीम भी मौजूद थी।
दूसरे दिन 26 मार्च को साइकिलिंग की पूरी टीम तथा औरंगाबाद तथा बनारस से आए साइकिलिस्टों को नेपाल पर्यटन बोर्ड के अध्यक्ष भवेश श्रेष्ठ ने सभी को सम्मानित किया। नेपाल पर्यटन बोर्ड के अधिकारियों द्वारा पूरी टीम को नेपाल के विभिन्न मंदिरों एवं पर्यटन स्थलों पर ले जाया गया। जिसमें भेंटेटार, दंत काली मंदिर, सुब्बा बाबा मंदिर ,शिव मंदिर एवं बराह क्षत्र मंदिर ले जाकर दर्शन करवाया गया ।26 तारीख को भेंटेटार में  होटल मैनेजमेंट कमेटी द्वारा सभी साइकिलिस्टों तथा पत्रकारों को सम्मानित किया गया तथा नेपाल इंडिया मैत्री भोज का आयोजन किया गया ।27 मार्च की रात्रि में पूर्णिया साइकिलिंग की टीम पुनः वापस चली और 28 की सुबह पूर्णिया पहुंच गई। इस भारत नेपाल मैत्री यात्रा में यह निष्कर्ष निकल कर आया की भारत नेपाल के रिश्ते काफी महत्वपूर्ण है जिस प्रकार से वहां सभी को आदर से सम्मानित किया गया। इज पता चल पाया कि नेपाल में पर्यटन के लिए बहुत सारे जगह हैं जहां लोग जाकर अपनी छुट्टियां मना सकते हैं।विशिष्ट अतिथि के रूप में सर्वगुरु तिवारी बाबा जी महाराज मौजूद थे।उन्होंने सभी को आशीष व बधाई दी।
इस साईकिलिंग के टीम के साथ 4 क्रू मेंबर लगातार साथ थे।जो
साइकिलिंग की टीम गई थी उसमें मुख्य रूप से साइकलिंग एसोसिएशन के सचिव विजय शंकर ,राणा प्रताप सिंह, राम भगवान सिंह, नवीन कुमार सिंह, कात्यायन प्रियांशु दत्त, राजीव रंजन अनुपम कुमार, अंकित मनी, निशीथ,राकेश कुमार पवन ,अग्निवेश पटेल, उत्कर्ष वर्मा तथा संतोष कुमार गुप्ता थे। क्रू मेंबर में दीपक कुमार ,पंकज कुमार ,आतिश सनातनी , अंकित आवरण के अलावे साइकलिंग एसोसिएशन के संरक्षक नंदकिशोर सिंह लगातार साथ थे ।जिला स्कूल में हुए स्वागत समारोह में सभी की भावनाएं उमर कर सामने आई  और सभी ने फिर और आगे अच्छे और सकारात्मक अभियानों को चलाने का वायदा किया।सभी ने एक दूसरे को बधाई दी। सम्मान समारोह के दौरान डॉक्टर अंगद कुमार, अध्यक्ष डॉ आलोक कुमार, तौफीक आलम, मनोहर कुमार ,निकुंज जी, सुनील लोहिया ,अनिल लोहिया, जिला स्कूल के प्रिंसिपल दिवा कांत झा ,तौफीक आलम, अमित कुमार सिंह ,शशांक शेखर मनोज पाटोदिया जी इत्यादि कई साथी मौजूद थे।





Related Post